मूविंग बाउंड्रीज’ मुहिम की शुरुआत

कोलकाता,(नि.स.)I शेल फाउंडेशन तथा मूविंग वुमन सोशल इनिशिएटिव फाउंडेशन (मोवो) के संयुक्त तत्वावधान में ‘मूविंग बाउंड्रीज’ मुहिम की शुरुआत की गई.

इसका मकसद महिलाओं को ड्राइविंग के जरिए अपने पांव पर खड़े करने के लिए प्रेरित करना है। ड्राइविंग सीखने के बाद महिलाएं, पारिस्थिकी तंत्र की अड़चनों को दूर करते हुए ट्रांसपोर्टेशन उद्योग में बतौर टैक्सी और ई-रिक्शा ड्राइवर या ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए डिलिवरी एजेंट्स के रूप में खुद की खातिर रोजगार की बेहतर संभावनाएं तलाश सकती हैं।

मोवो संस्थापक जय भारती, इस मुहिम के अंतर्गत अपनी बाइक पर भारत का भ्रमण कर रही हैं। 11 अक्तूबर से शुरू की गई 40 दिनों की इस यात्रा में वे देश के 20 शहरों में जाएंगी। वहां पर महिलाओं को ड्राइविंग सीखने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस मुहिम से जुड़कर महिलाएं अपने लिए रोजगार के मौके बढ़ा सकेंगी।

‘इवेन कार्गो’, जो कि एक ऐसी सामाजिक संस्था है जो महिला ड्राइवर्स को प्रशिक्षण, रोजगार देने और इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने में मदद करती है, वह भी इस मुहिम में सहयोग कर रही है।

आज यहां आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान ‘मूविंग बाउंड्रीज’ के बारे में बात करते हुए जय भारती ने कहा, दुनियाभर में महिलाओं को अपने आवागमन को लेकर कई अड़चनों का सामना करना पड़ता है। वे अच्छी पढ़ाई या ऐसे कामों के लिए घर से ज्यादा दूर नहीं जा पातीं। अगर उन्हें ज्यादा या असुरक्षित यात्रा करनी पड़े तो वे बाहर जाने के प्रति उत्साहित नहीं होंगी। ऐसे में उनके पास रोजगार के काफी सीमित मौके ही रह जाते हैं।

Leave a Reply