24 जून को रिलीज होगी पंकज त्रिपाठी अभिनीत फिल्म शेरदिल-द पीलीभीत सागा

शेरदिल फ़िल्म में अभिनय करने के बाद प्रकृति को लेकर ज़्यादा भावुक हो चुका हूं: पंकज त्रिपाठी

कोलिकाता,(नि.स.)l श्रीजीत मुखर्जी निर्देशित हिंदी फिल्म शेरदिल-द पीलीभीत सागा आगामी 24 जून 2022 से सभी सिनेमाघरों में प्रदर्शित होनेवाली है. इस फ़िल्म में पंकज त्रिपाठी, सयानी गुप्ता और नीरज कबि को अभिनय करते देखा जाएगा. इस फ़िल्म में शहरीकरण की वजह से उतपन्न हुई समस्याओं के साथ मानव-पशु संघर्ष और गरीबी को दिखाने की कोशिश की गई है. इसी बीच सोमवार को यहां उपरोक्त फ़िल्म को लेकर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. मौके पर उपस्थित अभिनेता पंकज त्रिपाठी से जब यह पूछा गया कि यह एक रियलिस्टिक फ़िल्म है, इस फ़िल्म से अपने आप को कितना जुड़ा हुआ महसूस करते हैं, के जवाब में उन्होंने कहा, चूंकि मैं खुद एक गांव से हूं. इसलिए फ़िल्म का जो मुद्दा है उससे मैं खुद भली भांति वाकिफ हूं. मैंने खुद भी कुछ ऐसी ही तकलीफें झेली हैं.

वहीं निर्देशक श्रीजीत मुखर्जी से जब यह पूछा गया कि आपने पंकज त्रिपाठी को इस फ़िल्म के लिए क्यों चुना है, के जवाब में उन्होंने कहा, इस फ़िल्म के लिए मुझे एक ऐसे किरदार की ज़रूरत थी जो मिट्टी से जुड़ा हुआ हो. और पंकज जी एक ऐसे इंसान हैं जिसमें ऐसी ही सादगी मौजूद है. फ़िल्म में गंगाराम, जो उनका किरदार है वह वाकई उनकी तरह नैचरल है. फ़िल्म के स्क्रिप्ट में भी उनका योगदान है. किरदार को बनाने में भी उन्होंने काफी सहयोग किया है. जो इंसान इतना कुछ कर सकता है, सोचिए वह उस किरदार से कितना जुड़ा हुआ होगा.

फ़िल्म जंगल मे शूट की गई है, शूटिंग का कोई यादगार लम्हा जिसको आप साझा करना चाहेंगे, पूछने पर पंकज ने कहा, सुबह 5 बजे शूट के लिए निकल जाते थे, शाम ढलने के बाद पैक अप होता था. इसलिए जंगल से काफी लगाव हो चुका है. वैसे श्रीजीत भी जंगल पसन्द किया करते हैं.

किसी फिल्म के किरदार को पर्दे पर जीने के बाद, उस किरदार का कितना प्रतिशत हिस्सा आपके अंदर रह जाता है, पूछने पर पंकज ने कहा, हर किरदार मेरे अंदर छाप छोड़ जाते हैं. इस फ़िल्म को करने के बाद प्रकृति से ज्यादा जुड़ाव महसूस करने लगा हूं.

Leave a Reply