मोहब्बत ऐसी हो जो दूसरों के दिलों को रौशन करे: आर डी नाथ

‘लव इज़ ऑल’ की कहानी कालीघाट क्षेत्र की है, जिसने मुझे इस फ़िल्म को करने पर मजबूर कर दिया: रितुपर्णा सेनगुप्ता

लेख: सप्तर्षि विश्वास
छायाकार: सुफल भट्टाचार्या

कोलकाताl चाहे इंसान कितना भी बुरा क्यों न हो, हर किसी के अंदर प्यार छुपा होता है लेकिन हमारा समाज उस व्यक्ति की बुराइयों पर चर्चा करते रहता है. उसकी अच्छाइयों को हमेशा नज़रंदाज़ कर दिया जाता है. जो सरासर गलत है. ऐसा करने से वह इंसान कभी भी अच्छी राह पर चलने के लिए तैयार नहीं होता. जी हां, बांग्ला फ़िल्म ‘लव इज़ ऑल की शूटिंग जोरों शोरों पर है. हाल ही में भारतमित्र की पूरी टीम सेट पर पहुंची हुई थी. उस दौरान सेट पर बातचीत करते हुए फ़िल्म के निर्देशक आर डी नाथ ने उपरोक्त बातें कही.

आपको बता दें, इस फ़िल्म में रितुपर्णा सेनगुप्ता, पायल सरकार, सुब्रत दत्ता, खराज मुखर्जी और परान बंद्योपाध्याय हैं.

नाथ ने आगे कहा, मेरी फिल्म में मैं समाज के पिछड़े हुए उन लोगों के प्यार की कहानी बयां करने की कोशिश कर रहा हूं, जिन्हें आप यौन कर्मी कहते हैं, लेकिन मेरी नज़रों में वे देवदासी हैं. सच्चे मायनो में वे प्यार करना जानते हैं.
मेरे ख्याल से मोहब्बत ऐसी होनी चाहिए जो दूसरों के दिलों को रौशन करें.

दूसरी तरफ फ़िल्म को लेकर बातचीत करते हुए अभिनेत्री रितुपर्णा सेनगुप्ता ने कहा, आर डी नाथ के साथ मेरी पहली फ़िल्म थी ब्यूटीफुल लाइफ. इस फ़िल्म को कई अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव में दिखाया गया है. उस फिल्म में अभिनय करने के दौरान मैंने देखा कि आर डी नाथ काफी आर्टिस्टिक हैं. दूसरी बात इस फ़िल्म की पृष्ठभूमि कालीघाट है, जिसने मुझे इस फ़िल्म को करने पर मजबूर कर दिया है.

रितुपर्णा ने आगे कहा, इस फ़िल्म में दो कहानियां हैं. एक में पायल और सुब्रत को अभिनय करते देखा जाएगा. वो दोनों बेहद उम्दा कलाकार हैं. फिल्म की जो दूसरी कहानी है, उसमें मैं एक नर्तकी की भूमिका में दिखाई दूंगी. आगे चलकर वह अपाहिज हो जाती है और फ़िल्म की कहानी आगे बढ़ती है.

वहीं पायल ने इस फ़िल्म में अपने चरित्र के बारे में बातचीत करते हुए कहा, इस फ़िल्म में मैं पूजा नामक एक लड़की के किरदार में हूं. पूजा एक यौनकर्मी है.

पायल ने आगे कहा, चूंकि फ़िल्म की पृष्ठभूमि कालीघाट है, इसलिए मां काली का संदर्भ पूरी फ़िल्म के दौरान आया है.

फ़िल्म का जो विषय है वह काफी इंटरेस्टिंग है. चूंकि यह फ़िल्म एक लव स्टोरी पर आधारित है, अभिनय करते-करते मैंने महसूस किया है, कहीं न कहीं मेरे अंदर एक छुपा हुआ आशिक जाग उठा है, जी हां, अभिनेता सुब्रत दत्ता ने अपने किरदार के बारे में बातचीत करते हुए कुछ ऐसा ही कहा.