Love

लकीरें

जचता नहीं आजकल कोई चीज़ मुझे, तेरे हाथों की लकीरों के सिवाए…..!

तेरे नाम

किसी खूबसूरत कवि की कल्पना हो तुम, खुद को भूल जाऊं वो नशा हो तुम,…