पियाल भट्टाचार्या को ‘रवि दवे स्मृति सम्मान’ एवं सैयद मोहम्मद इरफ़ान को ‘निनाद सम्मान’ से किया जाएगा सम्मानित

कोलकाता, अक्टूबर 2022 : देश की प्रतिष्ठित साहित्यिक-सांस्कृतिक संस्था नीलांबर द्वारा नाटक के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रतिवर्ष दिया जाने वाला ‘रवि दवे स्मृति सम्मान’ इस वर्ष देश के सुप्रतिष्ठित रंगकर्मी पियाल भट्टाचार्या को दिया जाएगा। नाट्यशास्त्र के शोधकर्ता, संगीतशास्त्र के अध्येता कलामंडलम पियाल भट्टाचार्य विगत दो दशकों से भारत के नाट्यशास्त्रीय काल की नृत्य और संगीत परंपरा के व्यावहारिक पुनर्निर्माण पर काम कर रहे हैं। उन्हें संगीत नाटक अकादमी, संस्कृति मंत्रालय, भारत से फैलोशिप व ‘भारत की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की रक्षा’ के लिए प्रतिष्ठित अनुदान से भी सम्मानित किया जा चुका है।

साहित्य के माध्यम से सामाजिक योगदान हेतु संस्था द्वारा दिया जाने वाला ‘निनाद सम्मान’ इस वर्ष सैयद मोहम्मद इरफान को देने की घोषणा हुई है। सैयद मोहम्मद इरफ़ान भारतीय पत्रकारिता के एक सशक्त हस्ताक्षर हैं। विगत तीन दशकों से प्रिंट, रेडियो, टेलीविजन व डिजिटल मीडिया समेत सभी तरह के मीडिया प्रारूपों में उनकी सक्रिय उपस्थिति रही है। इरफ़ान अद्भुत साक्षात्कारकर्ता हैं जो अपने ज्ञान, सटीकता और संवेदनात्मक संवाद के लिए जाने जाते हैं। लंबे समय तक राज्यसभा टीवी पर प्रसारित उनके साप्ताहिक सेलिब्रिटी टॉक शो ‘गुफ्तागू’ में साहित्य, संस्कृति, कला, खेल समेत विभिन्न क्षेत्रों की लगभग 500 प्रसिद्ध हस्तियों ने शिरकत किया है। पत्रकारिता के माध्यम से साहित्य, कला और संस्कृति के संवर्धन में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। स्थापित साहित्यकारों एवं कला साधकों से संवाद के साथ – साथ विभिन्न भारतीय भाषाओं व प्रांतों के लेखकों, लोक कलाकारों का राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर तक पहुंच बनाने में भी उनका शो सहायक रहा है। विभिन्न मंचों व माध्यमों से प्रमुख कवियों की कृतियों का मधुर एवं प्रभावी पाठ भी करते रहे हैं।

‘रवि दवे स्मृति सम्मान’ एवं ‘निनाद सम्मान’ नीलांबर द्वारा आयोजित साहित्य उत्सव लिटरेरिया 2022 के दौरान दिया जाएगा। ध्यातव्य है कि इस वर्ष नीलांबर द्वारा राष्ट्रीय स्तर का यह कार्यक्रम 18 से 20 नवंबर के दौरान कोलकाता में आयोजित किया जाएगा। इस आयोजन में संगोष्ठी, कविता, कहानी, नाटक, नृत्य, संगीत जैसी विधाओं की प्रस्तुति में देश भर से कई युवा और वरिष्ठ साहित्यकार एवं कलाकार शामिल होंगे।