कुमार शानू, नकाश अज़ीज़ और रितुपर्णा सेनगुप्ता ने रोशनी की म्यूज़िक एलबम को किया रोशन

कोलकाता,(नि.स.)l यूएस की रहनेवाली दसवीं में पढ़ रही रोशनी बनर्जी(14) को बचपन से ही संगीत से गहरा लगाव है. उन्होंने लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन माध्यम के ज़रिए प्रसिद्ध संगीतकार अशोक भद्र से संगीत की तालीम ली. और बहुत ही कम समय में वे कंटेम्पररी म्यूज़िक पर अपनी पकड़ को मजबूत किया. इसी बीच उन्होंने महानगर में अपने गाये हुए कुछ गीतों की रिकॉर्डिंग की. जिसमें एक गीत ‘बन जाओ ना मेरे हमसफ़र’ उन्होंने कुमार शानू के साथ गाया है. और दूसरा ‘बिखरे जो हम’ उन्होंने नकाश अज़ीज़ के साथ गाया है. दोनों ही हिंदी गीत है. इस अलबम में दो और बांग्ला गीत है. यूट्यूब प्लेटफॉर्म के लिए इस एलबम को तैयार किया गया है. इसके संगीत निर्देशक अशोक भद्र हैं.

इस एलबम को रविवार को यहां अभिनेत्री रितुपर्णा सेनगुप्ता के हाथों रिलीज़ किया गया. मौके पर रितुपर्णा ने कहा, एक कलाकार होने के नाते ये मेरा फ़र्ज़ बनता है कि मैं उभरते हुए कलाकारों को प्रोत्साहित करूं. दूसरा, रोशनी जिस शख्स से तालीम ले रही हैं वे मेरे ज़माने के प्रसिद्ध संगीतकार हैं. उन्होंने कई सिंगर को बुलंदियों के शिखर पर पहुंचाया है. उम्मीद करती हूं कि रोशनी भी एकदिन वही मुकाम हासिल कर पाएगी. अशोक भद्र ने कहा, रोशनी की गायकी से मैं बेहद खुश हूं. मौके पर रोशनी ने कहा, आज मैं जो कुछ भी हूँ अशोक भद्र जी की वजह से हूं. कुमार शानू और नकाश अज़ीज़ के साथ मैंने अपनी आवाज़ दी है, यह मेरे लिए काफी बड़ी बात है. इस अवसर पर देबोप्रसाद चक्रवर्ती, राजीव दत्ता, अभिनेत्री देविका मुखर्जी सहित कई लोग मौजूद थे.

Leave a Reply